इंफोसिस और अन्य आईटी कंपनियों ने इस साल की शुरुआत में अपने ईसॉप पूल का विस्तार किया

इंफोसिस और अन्य आईटी कंपनियों ने इस साल की शुरुआत में अपने ईसॉप पूल का विस्तार किया

प्रतिभा युद्ध के बीच लोगों को बनाए रखने के लिए भारतीय आईटी काम के माहौल, सीखने और ईसॉप्स का उपयोग करता है

नई मुंबई : इंफोसिस ने इस साल की शुरुआत में अपने ईसॉप पूल का विस्तार किया, जबकि एक बहुत छोटे पर्सिस्टेंट सिस्टम्स ने अपने लगभग 80% कर्मचारियों को कवर करते हुए एक ईसॉप शुरू किया है।

देश में आईटी क्षेत्र की दिग्गज चार कंपनी टीसीएस, एचसीएल, विप्रो और इन्फोसिस ने अपनी हायरिंग प्रक्रिया तेज करने का लक्ष्य रखा है। अगले वित्तवर्ष तक 1.80 लाख नौकरियां देने की योजना बनाई है। कंपनियों का कहना है कि कर्मचारियों के नौकरी बदलने की दर लगातार बढ़ती जा रही है, लिहाजा कंपनी को फ्रेशर्स भर्ती करने पड़ेंगे।

रोजगार के मोर्चे पर युवाओं के लिए अच्छी खबर है। देश में आईटी क्षेत्र की दिग्गज चारों कंपनियों ने अगले वित्तवर्ष तक 1.80 लाख नौकरियां देने की योजना बनाई है। टीसीएस, एचसीएल, विप्रो और इन्फोसिस ने अपनी हायरिंग प्रक्रिया तेज करने का लक्ष्य रखा है। कंपनियों का कहना है कि कर्मचारियों के नौकरी बदलने की दर लगातार बढ़ती जा रही है, लिहाजा कंपनी को फ्रेशर्स भर्ती करने पड़ेंगे।

टीसीएस : 78 हजार युवा भर्ती करने का लक्ष्य

देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का कहना है कर्मचारियों के नौकरी बदलने की दर 11.9 फीसदी पहुंच गई है। एक तिमाही पहले यह 8.6 फीसदी थी। कंपनी ने चालू वित्तवर्ष में अभी तक 35 हजार फ्रेशर्स को भर्ती किया है, जबकि दूसरी छमाही में 43 हजार और युवाओं को नौकरी देने का लक्ष्य है। इस तरह पूरे वित्तवर्ष में 78 हजार से ज्यादा लोगों की भर्तियां की जाएंगी। कंपनी के प्रबंधन को चिंता है कि अगले दो-तीन तिमाही तक नौकरियां छोड़ने का सिलसिला चल सकता है, जिससे नए लोगों की जरूरत होगी।

इन्फोसिस : 45 हजार को मिलेगा रोजगार

इन्फोसिस ने हाल में दूसरी तिमाही के परिणाम जारी करने के बाद 2021-22 में करीब 45 हजार फ्रेर्शस को नौकरियां देने का खुलासा किया है। कंपनी के मुख्य परिचालन अधिकारी प्रवीण राव ने बताया कि पहले हमने 35 हजार युवाओं को भर्ती करने का लक्ष्य रखा था, लेकिन नौकरियां बदलने की बढ़ती दर ने यह आंकड़ा 45 हजार तक बढ़ाने को मजबूर कर दिया।

विप्रो : अगले साल 25 हजार नौकरियां

विप्रो के सीईओ-एमडी थियरी डेलापोर्ते ने कहा, दूसरी तिमाही के दौरान कैंपस सेलेक्शन के जरिये 8,100 युवाओं को नौकरियां दी गईं। हमारे पास नए ऑर्डर और कारोबार विस्तार का मौका है, जिसे पूरा करने के लिए अगले वित्तवर्ष तक 25 हजार और युवाओं का भर्ती करने का लक्ष्य बनाया है।

एचसीएल : 52 हजार युवाओं को मौका

एचसीएल टेक्नोलॉजीज ने चालू वित्तवर्ष में 20-22 हजार युवाओं को रोजगार का लक्ष्य रखा है। कंपनी का कहना है कि भर्ती करने की प्रक्रिया अगले वित्तवर्ष में भी जारी रहेगी और हमने 30 हजार से ज्यादा फ्रेशर्स को नौकरियां देने की योजना बनाई है। इस तरह 2022-23 तक कुल 52 हजार नौकरियां देने का लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *